He bhole naath daya karke| new  songs for shivratri

shiv bhajan

He bhole naath daya karke


he bhole naath daya karke, ab mujhe basa lo charnan me।
fal-ful ki thali laai hu, charno me tumahre aai hu,
tumhe apne basa kar nainn me, ab mujhe basa lo charnan me। he bhole...
belpaat ki thali laai hu, darshan kotumhare hu,
tumhe dekh lu man ke darpan me, ab mujhe basa lo charnan me। he bhole...
me bhang dhatura laai hu, me dar-dar ki thukaraai hu,
mujhe de do sharan bas charannnme, ab mujhe basa lo charnan me।he bhole...
tera naam ka sumiran karti hu, yahi ro-ro kar bus kehti hu,
tere darshan ki pyaas hai akhiyan me, ab mujhe basa lo charnan me।he bhole...
tera prem hamari puja hai, koi aur naa man me duja hai,
tu chhipe hai man ki bagiyan me, ab mujhe basa lo charnan me। he bhole...

हे भोले नाथ दया करके, अब मुझे बसा लो चरणन में।
फल-फुल की थाली लाइ हु, चरणों में तुम्हरे आई हू,
तुम्हे अपने बसा कर नैनं में, अब मुझे बसा लो चरणन में। हे भोले...
बेल पात की थाली लाइ हू, दर्शन कोतुम्हारे हू,
तुम्हे देख लू मन के दर्पण में, अब मुझे बसा लो चरणन में। हे भोले...
में भंग धतूरा लाइ हू, में दर-दर की ठुकराई हू,
मुझे दे दो शरण बस चरणन में, अब मुझे बसा लो चरणन में। हे भोले...
तेरा नाम का सुमिरन करती हू, यही रो-रो कर बस कहती हू,
तेरे दर्शन की प्यास है अखियन में, अब मुझे बसा लो चरणन में। हे भोले...
तेरा प्रेम हमारी पूजा है, कोई और ना मन में दूजा है,

तू छिपे है मन की बगियन में, अब मुझे बसा लो चरणन में। हे भोले...
Previous Post Next Post