shanivaar vrat kee aaratee | शनिवार व्रत की आरती

शनिवार व्रत की आरती | Saturday fast Aarti

शनिवार व्रत की आरती
शनिवार व्रत की आरती
चार भुजा तहि छाजै, गदा हस्त प्यारी | जय ०
 रवि नंदन गज वंदन,यम अग्रज देवा |

 कष्ट न सो नर पाते, करते तब सेना | जय ०
 तेज अपार तुम्हारा, स्वामी सहा नहीं जावे | 

तुम से विमुख जगत में,सुख नहीं पावे | जय ० 
नमो नमः रविनंदन सब ग्रह सिरताजा |

 बंशीधर यश गावे रखियो प्रभु लाज | जय ० 

           ।। शनिवार वर्त की विधि इस प्रकार है ।।

 shanivaar vrat kee aaratee
 shanivaar vrat kee aaratee


 -- इस दिन शनि की पूजा होती है |
 -- काला तिल, काला वस्त्र, तेल, उड़द शनि को बहुत प्रिय है | 
-- शनि की पूजा भी इनके द्वारा की जाती है |
 -- शनि की दशा को दूर करने के लिए यह व्रत किया जाता है |
 -- शनि सत्रोत का पाठ भी विशेष लाभदायक सिद्ध होता है |
Previous Post Next Post